English ગુજરાતી ಕನ್ನಡ മലയാളം தமிழ் తెలుగు

छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस काफिले पर हमले के पीछे '3G' का हाथ

Posted by:

सुकमा। छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस के परिवर्तन रैली पर हुआ सबसे बड़ा नक्‍सली हमला 3G (थ्री जी) की साजिश थी। 3G ने पहले ही साजिश रच ली थी कि इस हमले में कांग्रेस के दिग्‍गज नेताओं को जान से मार देना है और कुछ को अगवा कर ले आना है ताकि सरकार को झुकने पर विवश किया जा सके। चौकिए नहीं यहां 3G का मतलब है उन तीन लोगों के नाम से जो इस हमले के मास्‍टर माइंड थे और तीनों का नाम अंग्रेजी के G अक्षर से शुरु होता है। जी हां 3G यानी गणपति, गुडसा और गगन्ना।

पुलिस सूत्रों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार दंडकारण्य जोन का कमांडर रामचंद्र रेड्डी उर्फ गुडसा ने ही हमले का प्लान बनाया था। गुडसा के कहने पर नक्‍सलियों के जोनल कमांडर पंकज उर्फ गगन्‍ना ने अपनी टीम के साथ हमले को अंजाम दिया। मालूम हो कि गुडसा और गगन्‍ना आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं और इसी हमले के लिये छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में आये थे। खास बात ये है कि नक्‍सलियों की जिस टीम ने नेताओं को निशाना बनाया उनकी उम्र 20 साल से लेकर 25 साल तक थी और उनमें आधे से ज्‍यादा महिलाएं थीं।

छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस काफिले पर हमले के पीछे '3G' का हाथ


खुफिया एजेंसियों के हवाले से जो जानकारी मिली है उसके अनुसार सुकमा में कांग्रेसी नेताओं पर हमले के वक्‍त नक्‍सलियों का प्रमुख गणपति भी छत्‍तीसगढ़ में मौजूद था। ये वहीं गणपति है जिसपर सरकार ने 51 लाख रुपये का इनाम रखा है। खुफिया एजेंसियों ने ये भी जानकारी दी है कि गणपति ने दो दिन पहले हमले को अंजाम देने वाले नक्सली नेताओं से मुलाकात की थी। वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपी एन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में शनिवार को कांग्रेसी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के काफिले पर हुए नक्सली हमले में सुरक्षा खामियां रही हैं, और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) इस मामले की जांच करेगी, ताकि दोषियों को दंडित किया जा सके।

छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में शनिवार को हुए नक्सली हमले को देश पर हमला करार देते हुए उन्होंने कहा कि हम हमले में जख्मी हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह ने कहा कि एनआईए का दल मामले की जांच के लिए सोमवार को छत्तीसगढ़ रवाना हो रही है। मालूम हो कि नक्सलियों ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में कांग्रेसी नेताओं के काफिले पर घात लगाकर हमला कर कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नंद कुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल तथा पूर्व विधायक उदय मुदलियार समेत 27 लोगों को मार डाला था और वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री वीसी शुक्ला समेत 32 अन्यों को घायल कर दिया था।

 
English summary
In the Naxal attack on Congress rally in Bastar district of Chhattisgarh is indicatin the needle towards 3G group in Maoists.
Subscribe Newsletter