इसराइल: कुछ घंटों के लिए अभियान रोका

 
इसराइल: कुछ घंटों के लिए अभियान रोका

एक इसराइली प्रवक्ता ने कहा है कि ग़ज़ा के लोगों को चिकित्सीय मदद और दूसरी सामग्री पहुँचाए जाने की अनुमति दी जाएगी.

लेकिन संघर्षविराम के कुछ मिनट के अंदर ही ग़ज़ा पर कम से कम दो हवाई हमले हुए. संवाददाताओं का कहना है कि ये स्पष्ट नहीं है कि संघर्षविराम पूरे ग़ज़ा पर लागू होगा या नहीं.

इसराइल ने कुछ घंटे के संघर्षविराम का फ़ैसला ऐसे समय लिया है जब इसराइल और फ़लस्तीनी गुट हमास पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ रहा है.

मिस्र और फ़्रांस के प्रस्ताव का अमरीका और संयुक्त राष्ट्र समर्थन कर रहे हैं. इस प्रस्ताव के तहत तुरंत संघर्षविराम का आग्रह किया गया है.

कूटनीतिक प्रयास

 अगर आप ग़ज़ा में रोज़ाना सात लाख पचास हज़ार लोगों को खाना खिलाने का इंतज़ाम कर रहे हों तो आपको स्थाई संघर्षविराम चाहिए. तीन घंटे में आप ऐसा नहीं कर सकते   प्रवक्ता, संयुक्त राष्ट्र राहत एजेंसी

&13; &13;
&13;  अगर आप ग़ज़ा में रोज़ाना सात लाख पचास हज़ार लोगों को खाना खिलाने का इंतज़ाम कर रहे हों तो आपको स्थाई संघर्षविराम चाहिए. तीन घंटे में आप ऐसा नहीं कर सकते&13; &13;
&13; &13;

प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए इसराइली प्रधानमंत्री एहुद ओल्मर्ट ने कहा कि वो मिस्र के साथ बातचीत को सकारात्मक नज़रिए से देख रहे हैं.

इसराइल की सेना का कहना है कि ग़ज़ा में मदद पहुँचाने के लिए ईंधन मुहैया करने के मकसद से नाके बनाए जाएँगे और रोज़ तीन घंटे के लिए सैन्य अभियान रोका जाएगा.

उधर हमास के प्रवक्ता ने अल अरबिया टेलीवीज़न को बताया है कि संघर्षविराम के दौरान वो इसराइल पर मिसाइल हमले नहीं करेगा.

इसराइल की नाकेबंदी के कारण ग़ज़ा में फसे करीब 15 लाख फ़लस्तीनी लोग वहाँ से निकल नहीं पा रहे हैं और उन्हें मदद की सख़्त ज़रुरत है. राहत सामग्री न पहुँचने देने को लेकर इसराइल की काफ़ी आलोचना भी हुई है.

वहीं संयुक्त राष्ट्र राहत एजेंसी के प्रवक्ता ने कहा कि इसराइल का क़दम पर्याप्त नहीं है. उनका कहना था, "अगर आप ग़ज़ा में रोज़ाना सात लाख पचास हज़ार लोगों को खाना खिलाने का इंतज़ाम कर रहे हों तो आपको स्थाई संघर्षविराम चाहिए. तीन घंटे में आप ऐसा नहीं कर सकते."

मंगलवार को ग़ज़ा में हुए अभियान में 130 लोग मारे गए थे. मंगलवार रात को ग़ज़ा में 40 हवाई हमले हुए जबकि इसराइली मीडिया के मुताबिक ग़ज़ा पर बुधवार को नौ रॉकेट दागे गए.

संघर्षविराम को लेकर ग़ज़ा और फ़्रांस के प्रस्तावों के बारे में ज़्यादा नहीं बताया जा रहा है लेकिन कूटनयिकों का कहना है कि इसमें मिस्र के ज़रिए ग़ज़ा में हथियारों की तस्करी रोकना और नाकेबंदी में ढील देना शामिल है.

Write a Comment
More Headlines