ना हंसी आई ना रोना- बजाते रहो रिव्यू

Posted by:
 


Rating:
2.0/5

विनय पाठक, रणवीर शोरे, रवि किशन जैसे कॉमेडी के महारथियों के होने के बावजूद सशांत शाह की कॉमेडी फिल्म बजाते रहो में कॉमेडी के नाम पर कुछ भी नहीं दिखा। फिल्म बजाते रहो में एक बार फिर से तुषार कपूर ने निराश किया और विशाखा के साथ उनके रोमांटिक सीन्स भी बेजान ही नज़र आए। हालांकि विनय पाठक और रणवीर शोरे ने मिलकर कई बार काफी अच्छी कॉमेडी करके लोगों को हंसाने की पूरी कोशिश की लेकिन इसके बावजूद फिल्म बजाते रहो को देखकर दर्शक काफी निराश हुए। फिल्म की कहानी काफी स्लो थी और साथ ही फिल्म में गानों के नाम पर भी सिर्फ दो गाने ही दिखे जिनका पिक्चराइजेशन कुछ खास नहीं था।

फिल्म बजाते रहो का निर्देशन शशांत शाह ने किया है और फिल्म को लेकर पूरी स्टार कास्ट काफी उत्साहित थी। आज यानी 26 जुलाई को ही फिल्म बजाते रहो सिनेमाहॉलों में रिलीज हो रही है। फिल्म बजाते रहो के नाम से ही काफी लोगों को लगा था कि फिल्म बहुत कॉमेडी भरी और इंटरेस्टिंग होगी। लेकिन फिल्म को देखने के बाद फिल्में में काफी कमियां नज़र आई। बजाते रहो फिल्म में रवि किशन का किरदार भी काफी थका हुआ सा नजर आया। फिल्म में तुषार कपूर की एक्टिंग में कोई दम नहीं था। हालांकि बीच बीचमें विनय पाठक और रणवीर शोरे ने काफी अच्छे सीन्स दिये लेकिन उसके बावजूद फिल्म थो़ड़ी सी बोरिंग जरुर लगी।

विनय पाठक से लोगों को सबसे ज्यादा उम्मीदें थीं क्योंकि उन्होंने अभी तक कई सारी बेहतरीन कॉमेडी फिल्में दी हैं। उनके नाम को सुनने के बाद सभी को लगाथा कि बजाते रहो भी एक मस्त कॉमेडी फिल्म होगी। बजाते रहो की कहानी जानने के लिए पढ़ें स्लाइड्स।

रवि किशन एक बड़ा फ्रॉड

रवि किशन ने बजाते रहो में एक बड़े धोखेबाज का किरदार निभाया है। फिल्म में रवि किशन दूसरों को धोखे से लूटकर खुद के खजाने में पैसे इकट्टा करता रहता है। रवि किशन के इसी एक बड़े धोखे का शिकार होते हैं मिस्टर बावेजा। रवि किशन मिस्टर बावेजा को कुछ इस तरह से धोखा देकर फंसा देता है कि मिस्टर बावेजा का अटैक से निधन हो जाता है और उसकी असिस्टेंट को जेल जाना पड़ताहै।

मिसेज बावेजा लेती हैं बदला

मिस्टर बावेजा की मौत के बाद सारे देनदार मिसेज बावेजा के पास आते हैं। पुलिस कहती है कि अगर मिसेज बावेजा सभी देनदारों के पैसे जल्द नहीं लौटाती हैं तो उनका घर तक नीलाम करा दिया जाएगा। मिसेज बावेजा तय करती हैं कि वो रवि किशन से बदला लेकर रहेगी और साथ ही वो रवि किशन से ही देनदारों को पैसे भी दिलाएगी।

तुषार कपूर और विशाखा की दोस्ती

तुषार कपूर मिस्टर बावेजा का बेटा है और वो भी अपनी मां मिसेज बावेजा के साथमिलकर रवि किशन से बदला लेने की ठान लेता है। तुषार एक केबिल सर्विस का ऑफिस चलाता है और उसी दौरान उसकी मुलाकात विशाखा से होती है और दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं। विशाखा भी तुशार कपूरके साथ मिलकर रवि किशन को धोखा देने में मदद करती है।

रवि किशन से बदला

तुषार कपूर और उसकी मां विनय पाठकर, रणवीर शोरे और विशाखा की मदद से रवि किशन को बरबाद करने की पूरी प्लानिंग करते है और साथ ही रवि किशन की बेटी की शादी के दौरान ही रवि किशन के घर से करोड़ों रुपये निकाल लेते हैं। रवि किशन को धीरे धीरे पता चलता है कि कोई उसका बिजनेस खराब करने पर तुला है।

रवि किशन को दे पाएंगे धोखा

लेकिन क्या रवि किशन इन लोगों की चाल और इनकी प्लानिंग से बच पाता है या फिर उसे ये लोग मिलकर लूट लेते हैं। ये सब जानने के लिेए तो आप अगर सिनेमाहॉल जाएं तो बेहतर होगा लेकिन फिल्म में मजा, कॉमेडी के नाम पर कुछ भी नहीं है। फिल्म की कहानी भी काफी स्लो है।

English summary
Bajatey Raho movie, directed by Shashant Shah, is a revenge comedy with an interesting plot. A series of cons, enthralling, amusing and needless to say entertaining to the core. Tusshar Kapoor, Vinay Pathak, Vishakha and Dolly Ahluwalia are playing lead roles in Bajatey Raho.
Write a Comment
More Headlines