English ગુજરાતી ಕನ್ನಡ മലയാളം தமிழ் తెలుగు

तर गया मैं...जब बच्चों ने भी बोला 'भाग मिल्खा भाग' : राकेश ओमप्रकाश मेहरा

Posted by:

जब बच्चों ने भी बोला 'भाग मिल्खा भाग'. तो....

पिछले साल की ऐतिहासिक फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' ने ना केवल अवार्ड जीते बल्कि लोगों का दिल भी जीता। देश के रीयल हीरो मिल्खा सिंह की जीवनी पर आधारित इस फिल्म ने हिंदी सिनेमा को एक नई परिभाषा दी जिसका पूरा श्रेय जाता है फिल्मकार राकेश ओमप्रकाश मेहरा और हीरो फरहान अख्तर को।

कुछ किरदार अमर हो जाते हैं उसी तरह से फरहान ने मिल्खा सिंह के किरदार को पर्दे पर अमर बना दिया। राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने यह साबित कर दिया कि फरहान से अच्छा मिल्खा सिंह का रोल कोई और प्ले कर ही नहीं सकता। अपनी इसी फिल्म के बारे में बात करते हुए राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने बड़ी सच्ची और मीठी बात कही, जिसके लिए वह वाकई में तारीफ के हकदार हैं।

Did You Know: 'भाग मिल्खा भाग' ने जीते सबसे ज्यादा फिल्मफेयर अवार्ड

फिल्मकार राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने कहा कि उनकी फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' की सफलता में जिस चीज ने सबसे ज्यादा भूमिका निभाई, वह यह थी कि छह से आठ साल तक के बच्चों का भी फिल्म से जुड़ना। मेहरा ने कहा कि मुझे उस समय बेहद खुशी हुई जब मैंने अपने कानों से छोटे-छोटे बच्चों को कहते सुना..'भाग मिल्खा भाग'। मेरा फिल्म बनाना उसी समय सार्थक हो गया। यह कुछ ऐसा है जिसे मैंने सपने में भी नहीं सोचा था। बच्चे इस विषय को समझने में सक्षम हैं ..यह अद्भुत है।"

आपको बता दें कि राकेश ओमप्रकाश मेहरा और उनकी फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' के प्रमुख अभिनेता फरहान अख्तर बुधवार को  फिक्की फ्रेम्स 2014 में उपस्थित थे। इस दौरान उन्होंने 'फ्रॉम रीयल-लाइफ हीरोज टू रील-लाइफ हीरोज : बायपिक्स इंस्पायरिंग जेनरेशन' विषय पर अपने विचारों पर चर्चा की।

Did You Know: साल 2013 की सौ करोड़ कमाने वाली फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' ने ने जीते सबसे ज्यादा फिल्मफेयर अवार्ड। जिसमें  सर्वश्रेष्ठ फिल्म, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के साथ ही सर्वश्रेष्ठ फिल्म निर्देशक का पुरस्कार शामिल है। इसमें परिधान डिजाइनिंग के लिए डॉली अहलूवालिया को भी सर्वश्रेष्ठ परिधान पुरस्कार से नवाजा गया। तो वहीं फिल्म के गीत 'जिंदा' के लिए प्रसून जोशी को सर्वश्रेष्ठ गीत पुरस्कार मिला। सर्वश्रेष्ठ प्रोडक्शन डिजाइन का खिताब भी इसी फिल्म के लिए एक्रोपोलिस डिजाइन को मिला।

 
English summary
Filmmaker Rakeysh Omprakash Mehra says the biggest part of his success with "Bhaag Milkha Bhaag" was that the movie managed to have a connect with children as young as six and eight
Subscribe Newsletter