बेकार कहानी और बोझिल संवाद से भरी हुई है 'शॉर्टकट रोमियो'

Posted by:
Published: Saturday, June 22, 2013, 13:27 [IST]
 

बैंगलोर। हिंदी फिल्‍मों का दर्शक कुछ भी स्‍वीकार कर सकता है, लगता है यही सोंचते हैं हमारे निर्माता निर्देशक। यह हम नहीं कह रहे है, यह कहना है दर्शकों का। बताया जा रहा है कि फिल्‍म की कहानी दर्शकों में कोई रूचि पैदा नहीं करती। वहीं संवाद, गीत संगीत और अभिनय में भी अधूरापन हैं।

फिल्‍म की कहानी

कहानी यह है कि अभिनेता नील नितिन मुकेश एक बार गोल्‍फ के मैदान में अमीषा पटेल जो कि एक अरबपति की पत्‍नी, किसी के साथ शारीरिक संबंध बना रही होती है का वीडियों बना लेता है। फिर इसी वीडियो को आधार बना अमीषा को ब्‍लैकमेल करता है। वह अमीषा के पैसे से ही केन्‍या जाता है, जहां उसे पूजा गुप्‍ता से प्‍यार हो जाता है। जिसके बाद पूजा गुप्‍ता का अपहरण हो जाता है, जो कि अमीषा ने करवाया, जिसके बदले वह नील से अपना वीडियो वापस मांगती है।

फिल्‍म में नाटकीयता तब आती है जब पता चलता है कि पूजा गुप्‍ता को अमीषा ने ही भेजा था। इसके बाद वही हिंदी फिल्‍मों के बदला लेने वाले पुराने ढर्रे पर चलने वाली कहानी है। फिल्‍म के सभी कलाकार ओवर एक्टिंग के शिकार हैं जो कि दर्शकों पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ पाता है।

फिल्‍म को देखकर कह पाना मुश्किल है कि क्‍या निर्देशक सुशी गणेशन ने इसके पहले कोई फिल्‍म बनायी है। यह तमिल फिल्‍म चिरूट्टू पयाले की हिंदी रीमेक हैं।

English summary
Bollywood movie 'Shortcut Romeo' didn't make any effect on audience. This is a traditional story of hindi cinema which has love, sex and revenge.
Write a Comment
More Headlines