खुद को सीरियसली लेना बंद कर दिया है मैंने- शाहिद कपूर

Posted by:
 
खुद को सीरियसली लेना बंद कर दिया...

(सोनिका मिश्रा) विवाह, जब वी मेट, बदमाश कंपनी के बाद से ही शाहिद कपूर की स्टार इमेज कहीं खो सी गयी थी। हाल ही में राज कुमार संतोषी की आउट एन आउट कॉमेडी फिल्म फटा पोस्टर निकला हीरो के रिलीज होने के बाद एक बार फिर से बॉक्स ऑफिस पर शाहिद कपूर की स्टार वापर वापस आ गयी है। लोगों को शाहिद कपूर की एक्टिंग बेहद पसंद आ रही है और फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फिल्म काफी अच्छा बिजनेस भी कर रही है। शाहिद कपूर ने फिल्म में सलमान खान के फैन का किरदार निभाया है जो कि एक्टर बनना चाहता है लेकिन किस्मत उसने एक नकली पुलिस इंसपेक्टर बना देती है। वनइंडिया से हुई बातचीत के दौरान शाहिद ने कई सारी बातें शेयर कीं पेश हैं कुछ अंश।

बदमाश कंपनी के बाद आपकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास नहीं चलीं क्या लगता है आपको क्या वजह रही इसके पीछे।

मुझे लगता है कि मेरा टाइम खराब चल रहा था इसलिए मैं जो भी फिल्में कर रहा था वो अच्छा बिजनेस नहीं कर पा रही थीं। इसके अलावा मैं काम भी कम कर रहा था। दूसरी बात ये है कि मुझे इस बात पर भी ध्यान देना होगा कि किस तरह के निर्देशक को मैं खुद को दे रहा हूं यानी कि किनपर निर्भर हो रहा हूं किनके अनुसार काम कर रहा हूं। फिल्हाल मैं राजीव, प्रभु देवा, विशाल इन सभी निर्दशकों पर मैं आंखें बंद करके भरोसा कर सकता हूं।

इस दौरान क्या लर्निग रही आपकी।

मैंने ये सीखा कि आप पेपर पर लिखी स्क्रिप्ट से रिलेशन नहीं बना सकते। असल में आपको फिल्म की पूरी टीम के साथ काम करना होता है। मेरे अनुसार स्क्रिप्ट से ज्यादा उस स्किप्ट से जुड़े लोगों के साथ

फटा पोस्टर निकला हीरो से पहले भी आपने कॉमेडी फिल्में की हैं। फिर ये आपके लिए नयी या हटकर कैसे हुई।

आउट एन आउट मसालेदार, कॉमेडी फिल्म कभी की ही नहीं है मैंने। ये जोन ही मेरे लिए काफी अलग और नया था। मेरा सबसे बड़ा चैलेंज था कि मैं राज जी के साथ बॉंडिंग बना सकूं।

सलमान खान के फैन का किरदार निभाने का एक्सपीरिंयस कैसा रहा। रियल लाइफ में किसके फैन हैं आप।

मुझे किसी भी तरह की कोई मुश्किल नहीं थी। मै ही नहीं बल्कि हमारी जेनरेशन सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान की फैन है। सलमान खान के कई क्रेजी फैन्स से मैं मिल भी चुका हूं तो मुझे बहुत ही मजा आया उस तरह के फैन का किरदार निभाने में। फिल्म में बहुत सारे फनी इंसिडेंट हैं जिन्हें करते करते मैं काफी बार खुद ही हंस पड़ता था।

जब वी मेट के बाद आपने कहा था कि आप थोड़ा चूजी हो गये हैं और अपने हिसाबसे फिल्में सेलेक्ट कर रहे हैं। क्या लगता है आपको ये फैसला आपके फेवर में रहा या अगेनस्ट।

कभी कभी आपके फैसले आपके लिए काम कर जाते है कभी नहीं. विवाह के छ महीने बाद जब वी मेट फिल्म की और वो हिट हुई तो मुझे लगा कि चूजी होना काफी फआयदेमंद है। फिर दो फिल्में फ्लॉप हो गयीं तो लगा कि नहीं यार इतना भई चूजी नहीं होना चाहिए। तो कुल मिलाकर मुझे यही लगा कि एक्टर को अपने आप को काफी सीरियसली नहीं लेना चाहिए। मुझे लगता कि आपको लोगों को ये फ्रीडम देनी चाहिए कि वो आपको मोल्ड कर सकें इससे आपके अंदर काफी सारे बदलाव आते हैं और कई बार आप कुछ ऐसे बन जाते हैं जिसके बारे में आपने खुद सोचा ही नहीं होता।

इलियाना के साथ काम करने का ऐक्सपीरिंयस कैसा रहा।

इलियाना काफी शर्मीली भी हैं और कभी कभी वो बातें भी करती हैं। सबसे पहली चीज जो मुझे इलियाना के बारे में पता चली वो थी उनकी बेली डासिंग। उनकी डांसिंग ने मुझे काफी प्रभावित किया।

फिल्मों के एग्रेसिव प्रमोशन को लेकर क्या कहना है आपका।

मझे लगता है कि फिल्मों का प्रमोशन करना मेरी जेनरेशन के लिए बहुत जरुरी है। क्योंकि आज भी खानों के अलावा भी लोग दूसरे हीरो की फिल्में देखना चाहते हैं। लेकिन कई बार उन तक हमारी फिल्मों के बारे में इनफोरमेशन नहीं पहुंच पाती। तो आज फिल्मों की सफलता के पीछे प्रमोशन्स का भी बहुत बड़ा हाथ है।

English summary
Shahid Kpaoor says he has stopped taking himself seriously as whenever he expects anything things go wrong. Shahid said he learnt so much in his bad phase of career. Shahid praises Raj Kumar Santoshi and said in Phata Poster Nikla Hero movie Raj Kumar has mold him in such a different shape.
Write a Comment
More Headlines