मैं फिक्र नॉट नहीं रहता : फरहान अख्तर

Published: Wednesday, August 7, 2013, 15:08 [IST]
 

निर्माता, निर्देशक एवं अभिनेता फरहान अख्तर ने सिनेमा के जिस क्षेत्र में कदम रखा, वहां नई ऊंचाईयों को छुआ। उनकी कामयाबी का दौर हालिया प्रदर्शित फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' के साथ जारी है। फरहान कहते हैं कि फिल्म दर्शकों और समीक्षकों को प्रभावित करने में सफल रही है और अब फिल्मकार मुझे बेफिक्र शहरी युवक के रूप में नहीं देखेंगे।

फरहान ने आईएएनएस को बताया, "बॉक्स ऑफिस पर तो 'भाग मिल्खा भाग' सफल रही है, लेकिन उससे भी बड़ी बात मेरे लिए यह है कि फिल्म ने मेरे बारे में लोगों की यह धारणा बदली है कि मैं सिर्फ एक संभ्रात शहरी युवक की भूमिका ही निभा सकता हूं। यह मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है।"

फरहान अपनी पिछली फिल्मों -'रॉक ऑन', 'लक बाई चांस', 'कार्तिक कॉलिंग कार्तिक' और 'जिंदगी न मिलेगी दोबारा' में एक बेफिक्र शहरी युवक के रूप में दिखे हैं।

राकेश ओम प्रकाश मेहरा की महत्वकांक्षी फिल्म 'भाग मिल्खा भाग' में फरहान ने भारतीय धावक मिल्खा सिंह की भूमिका निभाई है। फिल्म मिल्खा सिंह की जीवनी पर आधारित है। फिल्म में फरहान की भूमिका ने लोगों को उनकी बहुमुखी प्रतिभा का लोहा मानने को मजबूर किया है।

गीतकार जावेद अख्तर और लेखिका हनी ईरानी के बेटे फरहान ने कहा, "फिल्म ने यह साबित कर दिया है कि फरहान में वह प्रतिभा है कि वह इस तरह की भूमिका भी निभा सकता है।" फरहान की अगली फिल्म 'शादी के साइड इफेक्ट्स' जल्द ही सिनेमाघरों में आने वाली है।

फरहान ने कहा, "आप सिर्फ बैठ कर अपनी पिछली सफलताओं की दुहाई नहीं दे सकते। मैं उम्मीद करता हूं कि आगे भी राकेश और अभिषेक कपूर जैसे निर्देशकों से मेरी मुलाकात हो, उनके पास इस तरह की कहानियां हों, जिनसे प्रभावित होकर मैं कह सकूं कि हां यह फिल्म मुझे करनी चाहिए।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

English summary
As an actor, director or producer, Farhan Akhtar has broken new ground with every project - and his winning streak continues with "Bhaag Milkha Bhaag". He says the film's "biggest" knock-on effect, however, is that filmmakers now won't see him just as the "cool urban guy".
Write a Comment
More Headlines