Exclusive रियल लाइफ में कभी किस नहीं किया: अर्जुन कपूर

Posted by:
Updated: Monday, May 6, 2013, 9:36 [IST]
 

इशकजादे फिल्म से लड़कियों को अपना दीवाना बना देने वाले एक्टर अर्जुन कपूर एक बार फिर से जल्द ही औरंगजेब फिल्म में डबल किरदार में नज़र आने वाले हैं। अर्जुन कपूर से हुई खास मुलाकात में वनइंडिया कि रिपोर्टर सोनिका मिश्रा ने कई ऐसे सवाल पूछे जिनके बारे में अर्जुन कपूर की हर एक दीवानी जानना चाहती है। अर्जुन कपूर की निजी जिंदगी से लेकर अर्जुन की प्रोफेशनल लाइफ के बारे में अर्जुन ने काफी बिंदास होकर जवाब दिये। आइये जानते हैं अर्जुन कपूर के साथ खास मुलाकात के कुछ अंश।

औरंगजेब में आपका डबल रोल है। एक निगेटिव किरदार है और एक पॉजिटिव दोनों में से किस रोल को आपने ज्यादा इंज्वॉय किया?

मुझे फिल्म में मेरा विशाल का किरदार ज्यादा पसंद आया मैं थोड़ा मूडी हूं। फिल्म में मेरे दो किरदार हैं अजय और विशाल। अजय का किरदार थोड़ा डार्क है यानी निगेटिव। मुझे लगता है कि लोगों को बदमाश यानी अजय ज्यादा पसंद आयेगा लेकिन मुझे विशाल का किरदार ज्यादा पसंद आया क्योंकि विशाल का किरदार मुझसे थोड़ा मिलता जुलता है। हालांकि विशाल बहुत ही ज्यादा शांत है और मैं थोड़ा मूडी हूं। बहुत मस्ती करता हूं।

अक्सर एक्टर्स अपने पिता के साथ अपने करियर की शुरुआत नहीं करते। बोनी कपूर के साथ अपने करियर की शुरुआत ना करने के पीछे आपकी क्या वजह थी।

(हंसते हुए) पिछले साल भी मैंने इस सवाल का जवाब दिया था लेकिन अब मेरे पास इस सवाल का और भी बैटर जवाब है। बेटा हमेशा अपने पिता के लिेए एक असेस्ट होता है। उससे सभी को एक्सपेक्टेनशन होती है कि वो अपने पिता का बिजनेस बढ़ाए और साथ ही उनका साथ दे। फिल्ममेकिंग भी एक बिजनेस है अगर आप अपने पिता के साथ फिल्म करते हैं खास तौर पर अपनी पहली फिल्म तो पिता अपने साथ किसी एक्टर को नहीं बल्कि अपने बेटे को देखता है। वो फिल्म से इमोशनली जुड़ जाता है। तो आप फिल्म में एक्टर की तरह काम नहीं कर पाते। साथ ही पहली फिल्म से आपको बहुत उम्मीदें होती हैं क्योंकि पहली फिल्म आपकी आखिरी फिल्म भी हो सकती हैं। मुझे जब येश राज फिल्म्स से ऑफर मिला तो मुझे कहानी काफी पसंद आई और मैंने हां कर दी। मैं नहीं चाहता था कि वो मुझे एक बेटे की तरह देखें और फिल्म मेरे मुताबिक बनाएं। मैं चाहता था कि वो मुझे एक एक्टर की तरह देखें और अपनी तरह फिल्म बनाएं मैं उनके रंग में रंहना चाहता था और अब मैं उस पॉजीशन में हूं कि मैं उनके अनुसार काम कर सकता हूं। मैं अपने पिता के साथ भी फिल्म कर रहा हूं।

अगर मौका मिले तो बोनी कपूर की किस फिल्म को करना चाहेंगे आप?

मिस्टर इंडिया करना चाहूंगा। रीमेक नहीं करुंगा क्योंकि मिस्टर इंडिया का रीमेक करना उसे छू्ना गलत होगा। वो हम नहीं कर सकते लेकिन सीक्वल अगर कर सका तो जरुर करुंगा।

आपने अपनी पहली ही फिल्म में इंटिमेट सीन किया था। औरंगजेब में भी साशा के साथ आपका इंटिमेट सीन है। तो कितना मुश्किल था पहली ही फिल्म से इस तरह के सीन की शुरुआत करना कभी कोई मुश्किल नहीं हुई?

नहीं ये बिल्कुल भी मुश्किल नहीं था। क्योंकि ये वो है जो कि हमारी रियल लाइफ में होता है। दर्शकों ने भी इसे एक्सेप्ट कर लिया है आज ये इतनी बड़ी चीज भी नहीं है। मीडिया इसे बड़ा बना देता है क्योंकि ये उनके लिए एक अच्छी गॉसिप स्टोरी होती है। लेकिन असलियत में ऐसा कुछ भी नहीं है। जब हम स्क्रिप्ट पढ़ते हैं तो हमें ये पहले ही ये पता होता है कि ये होने वाला है। तो अगर आप कंफरटेबल नहीं है तो आप ये नहीं करेंगे। इशकजादे में अगर वो सीन नहीं होता तो फिल्म ही नहीं होती क्योंकि इंटरवल के बाद ही पूरी फिल्म बिल्कुल नया टर्न लेती है। वो सीन फिल्म का टर्निगं प्वाइंट था। औरंगजेब फिल्म में भी मेरे और साशा के बीच जो किंसिंग सीन शूट किया गया है वो फिल्म की स्टोरी का एक हिस्सा है। हमने उसे ट्रेलर में दिखाया है क्योंकि वो फिल्म का हिस्सा है। ये सीन भी उसी तरह शूट किया गया है जिस तरह यश राज की फिल्मों में होता है। जब तक है जान में भी शाहरुख का किसींग सीन था क्योंकि बिना फिल्म फीकी हो जाती।
आप जब ये फिल्म देखेंगे तो आपको महसूस होगा कि ये सीन फिल्म की कहानी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। वैसे इसका पूरा श्रेय भट्ट और इमरान हाशमी को जाना चाहिए क्योंकि उऩ्होंने हर एक एक्टर के लिए इस तरह के सीन काफी आसान और कॉमन कर दिये हैं।

जैसा कि आपने कहा कि ये सभी इंटिमेट सीन्स, किसिंग सीन्स हर किसी की जिंदगी का हिस्सा है तो आपने सबसे पहली बार किसे किस किया?

(हंसते हुए) क्योंकि पहले मैं काफी मोटा था तो मैं लड़कियों से दूर रहता था और उनसे बात करने में भी डरता था। तो मैने कभी किसी को किस नहीं किया। तब लड़कियां मुझे भाई ज्यादा बनाती थीं। हां अब शुरुआत कर रहा हूं। सबसे पहले स्क्रीन पर किसिंग सीन की शुरुआत कर रहा हूं।

कहते हैं कि आप बहुत ही शर्मीले किस्म के हैं। क्या ये सच है?

मैं शर्मीला नहीं हूं मैं लोगों को स्पेस देने में बिलीव करता हूं। मैं एक्ट्रसेस के साथ इतना वक्त बिताता हूं कि उनके साथ मेरी दोस्ती अलग ही लेवल पर पहुंच जाती है। जैसे कि परिणिती चोपड़ा के साथ हमने फिल्म की शूटिंग के दौरान इतना वक्त बिताया था कि हम दोनों की दोस्ती काफी अच्छी हो गयी और एक दूसरे के साथ अफेयर जैसा कुछ नहीं था। साशा के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ कि हम दोनों नें फिल्म के ऑडीशन के दौरान ही एक दूसरे के साथ काफी वक्त बिता लिया कि एक दूसरे के लिए हम अजनबी नहीं थे। तो ऐसा कुछ हुआ ही नहीं। वैसे मैं थोड़ा इंट्रोवर्ट टाईप का हूं और थोड़ा प्राइवेट रहता हूं।

आपके फैन्स जानना चाहते हैं कि क्या आप सोशल नेट्वर्किंग साइट पर हैं?

मैं किसी भी सोशल नेटवर्किंग साइट पर नहीं हूं। क्योंकि मैं बहुत ही सच्चा हूं। मैं नहीं चाहता कि मैं ट्विटर, फेसबुक पर कुछ लिख दूं और लोग मुझे पीठ पीछे गालियां दें। क्योंकि अब कोई मुझे मुंह पर तो कुछ बोल नहीं पाएगा तो वो पीठ पीछे ही भड़ास निकालेगा तो मैं ये सब नहीं चाहता। इसलिए मैं ना ही ट्विटर पर हूं और ना ही फेसबुक पर।

आपने औरंगजेब और गुंडे के लिए अपना वेट घटाया?

मैंने औरंगजेब और गुंडे फिल्म के लिए अपना काफी वेट घटाया है। औरंगजेब के लिए मुझे काफी वेट घटाना पड़ा लेकिन मुझे ये नहीं याद कि कितने किलो वेट मैंने घटाया। आप एक किलो वजन घटाएं तो वो भी 6 किलो लग सकता है कि ये आपपर डिपेंड करता है कि आपने कितने कैसे वेट घटाया है। खाना देखकर ही मेरा वजन बढ़ जाता है। लेकिन मैं अपनी डायट का काफी ध्यान रखता हूं।

आप हमेशा से एक्टर बनना चाहते थे? अगर हां तो किस तरह की तैयारी की थी आपने?

मैं बचपन से ही एक्टर बनना चाहता था मुझे थोड़ा वक्त लगा ये समझने में कि मैं एक्टिंग में ही जाना चाहता हूं। लेकिन एक बार मुझे यकीन हो गया तो मैंने फिर कभी नहीं सोचा। मुझे सलमान खान ने भी काफी मदद की ये समझने में। और साथ ही उन्होंने मेरी हेल्थ और मेरी डायट को लेकर भी काफी मदद की।

सलमान खान से मुलाकात होती है आपकी?

हां बिल्कुल, अभी मैंने उन्हें औरंगजेब का ट्रेलर भी दिखाया। वो काफी खुश थे। बल्कि मैं ही खुद शॉक्ड रह गया उनके रिस्पांस देखकर। उन्होंने मेरी बहुत तारीफ की। उन्हें फिल्म में मेरे लंबे बाल काफी पसंद आए। वो मुझे हमेशा सिखाते रहते हैं कि अब एक्टर बन गया है कुछ स्टाईल में रहा कर। अगर वो मुझे इस चप्पल में देख लेंगे तो मुझे काफी डाटेंगे। सलमान खान हमेशा मुझे कहते थे कि तू एक्शन करना और मेरा एक्शन देखकर वो काफी खुश भी थे। फिल्म में सलीम जावेद जी की भी झलक है। औरंगजेब इशकजादे से बिल्कुल अलग है और इसमें कुछ भी पुराना नहीं है।

बॉलीवुड में अपनी सफलता का श्रेय किसे देना चाहेंगे?

मेरी मासी और मेरी नानी मुझे काफी हिम्मत देती हैं। मेरी मां के निधन के बाद मेरी नानी ने मेरा काफी ध्यान रखा और हमेशा मुझे समझाया और मेरी केयर की। आज भी वो हमेशा मुझसे पूछती हैं कि मैं कहां हूं क्या कर रहा हूं। हर सुबह पूछती हैं कि मैं कहां शूटिंग पर जा रहा हूं। मेरी मां ने मेरे लिये बहुत कुछ किया है। यहां तक उनहोंने अपनी पूरी जिंदगी तक दे दी मेरे लिए। तो मैं अपनी मां को बहुत मिस करता हूं।

आपकी बहन का भी एक्टिग में आऩे का कोई प्लान?

मेरी बहन अपने गूगल में काम से बेहद खुश है। वो मेरी सबसे इमानदार क्रिटिक है। वो हमेशा मुझे बताती रहती है कि मैंने अच्छा काम किया है या खराब। वो इस फील्ड में नहीं आना चाहती अभी उसका ऐसा कोई प्लान नहीं है।

English summary
Arjun Kapoor is playing double role in his upcoming movie Aurangzeb. Arjun Kapoor says that he was never feels awkward while shooting for intimate scenes as these are the part of everyone's normal life.
Write a Comment